Friday, 15 April 2016

How to fight with IPC 406?


How to fight with IPC 406?
 

स्त्रीधन एवं भारतीय दंड संहिता धारा ४०६



परस्तवना

स्त्रीधन से मतलब पत्नी या बहू को दिये गए वो सारे उपहार और चीजे सम्मिलित होती है जोकि उसे शादी से पहले या शादी के समय या शादी के बाद पति या पति के परिवार से या पति के रिश्तेदार से या पति के दोस्त से या अन्य किसी भी व्यक्ति से या खुद के परिवार से या रिश्तेदार से या दोस्त से मिले होते है । यह उपहार कुछ भी ओर किसी भी प्रकार के हो सकता है जैसे की गिफ्ट आइटम, कपड़ा, जेवर, गाड़ी, मकान, जमीन आदि । स्त्रीधन पत्नी की निजी संपत्ति होती है (कानून के हिसाब से) ।



कानून

पत्नी या बहू की बिना मर्ज़ी के स्त्रीधन को रखना या हड़पना भारतीय दंड संहिता की धारा 406 (अमानत में खयानत) के प्रावधान के अंतर्गत दंडनीय अपराध माना जाता है ।

                     

कारण

जब भी पति पत्नी के बीच वैवाहिक झगड़ा होता है और पत्नी महिला सेल में शिकायत करती है या न्यायालय में मुकदमा करती है तो ज़्यादातर मामलो में स्त्रीधन का जिक्र जरूर होता है । ज़्यादातर मामलो में तो जमानत भी नहीं मिलती है । यदि विवाह सम्बन्ध टूट जाता है तो पत्नी या बहू को दिए गए सभी उपहारों को उसको वापस देना पड़ सकता है या उनके बराबर की कीमत देनी पड़ सकती है । यदि अदालत ऐसे उपहारों को शादी के लिए जरूरी मानती है तो इन्हें दहेज माना जाता है । तब पति और पति के परिवार या पति पक्ष लोगो को दहेज अधिनियम के अंतर्गत दहेज मांगने या स्वीकार करने का दोषी मान लिया जाता है और मुकदमे का सामना करना पड़ता है । कभी कभी जेल भी हो जाती है । कभी कभी पत्नी या बहू उस सामान को अपना बताती है जिससे उसका कोई लेना देना नहीं होता ।


उपाय

शादी से पहले ओर शादी के बाद न तो कोई तोहफा दे न कोई तोहफा ले न कोई तोहफा मांगे न कोई तोहफा स्वीकार करें और इन सब तथ्य को शादी के दिन लिखित में ले ओर दोनों पक्ष के लोगो के इस पर हस्ताक्षर ले । जब भी पत्नी या बहू को कोई समान दे उसकी रसीद जरूर रखे । हो सके तो दहेज निषेद अधिनियम 1971 की धारा 2 के अनुसार सूची बनाए और दोनों पक्ष के लोगो से हस्ताक्षर ले ।



सलाह

जब भी कोई न्यायिक विवाद चल रहा तो इसको गंभीरता से ले । रसीद और डी पी अधिनियम की धारा 2 की सूची को संभाल कर रखे । कभी कभी इस धारा (406) के होने के कारण जमानत नहीं मिलती है या बड़ी मुसकिल से मिलती है ।